About Asia In Hindi

भौगोलिक द्रष्टि से दुनिया के ७ महाद्वीप हे . पृथ्वी का तिन चोथाई भाग पानी से भरा हुआ हे .पृथ्वी पर का बड़ा जमीनी हिस्सा जो समुद्र से अलग दिखाई देता हे उसे महाद्वीप कहेते हे. हलाकि महाद्वीप की स्पष्ट सीमा ओर सहमति अलग अलग हे .कुछ भूगोल विज्ञानीओ की राय अलग अलग हे उनका मानना हे की ( यूरोप+एशिया = यूरेशिया ) (यूरोप+एशिया+अफ्रीका+ युराफ्रेशिया ) ( उत्तर अमेरिका+दक्षिण अमेरिका = अमेरिका ) करना चाहिए .

आइये तो एशिया खंड के बारे में कुछ नयी-पुरानी बाते जानते हे :-

१) विश्व का सबसे बड़ा महाद्वीप :- 

उततरी गोलार्ध में स्थित एशिया महाद्वीप क्षेत्रफल ओर जनगणना दोनों की द्रष्टि से विश्व का सबसे बड़ा महाद्वीप हे. एशिया की जनगणना भी सबसे अधिक हे. विश्व की ६० % जनगणना एशिया में ही हे. क्षेत्रफल की दृष्टी से एशिया का क्षेत्रफल विश्व के ३०% क्षेत्रफल के बराबर हे

२) स्थान :-  

एशिया के पूर्व में – प्रशांत महासागर, पश्चिम में यूरोप द्वीप ओर अफ्रीका द्वीप, उत्तर में आर्क्टिक महासागर ओर दक्षिण में हिन्द महासागर हे .संयुक्त राष्ट्र के अनुसार एशिया के पांच उपभाग हे. Eastern Asia (पूर्व एशिया ) Western Asia ( पश्चिम एशिया ) Central Asia ( मध्य एशिया ) South Eastern  Asia ( दक्षिण पूर्व एशिया ) South Asia (दक्षिण एशिया ). एशिया ओर यूरोप यूराज पर्वत ओर यूराल नदी के द्वारा अलग होते हे .एशिया ओर अफ्रीका स्वेज नहर के द्वारा अलग होते हे.

 

३) प्राचीन एशिया :-

भारतीय ग्रंथो के मुताबिक प्राचीन काल में एशिया में जम्बुद्वीप, पुष्करद्वीप, शाकद्वीप , आर्यवर्त नामक द्वीप थे. प्राचीन एशिया में पुरानी सिंधू घाटी सभ्यता, चीन की सभ्यता , ईरान ( फारस ) की सभ्यता, अरब सभ्यता जैसे अनेक सभ्यता आई हुई थी इसीलिए इसे सभ्यता का द्वीप भी कहा जाता हे.

४) धर्म – जाती :-

विश्व के पांच मुख्य धर्म हिन्दू , इस्लाम , इसाई, चीनी सभ्यता, तथा बौध धर्म का उदय एशिया में ही हुआ हे . एशिया में सभी धर्म ओर जाती के लोग रहेते हे . एशिया में १०० से भी ज्यादा भाषा ए बोली जाती हे . जिनमे से भारत में ही ३० ओर इंडोनेशिया में १२ भाषाए बोली जाती हे .

५) राष्ट्र :-

एशिया महाद्वीप में ४८ राष्ट्र आये हुए हे जिनमे से चीन ओर भारत विश्व के अधिक जनगणना वाले राष्ट्र हे. रशिया, कजाकिस्तान, ओर तुर्की यह तिन ऐसे राष्ट्र हे जो यूरोप ओर एशिया महाद्वीप दोनों में आये  हुआ हे .

कुदरती संपति :-

एशिया पेट्रोलियम, चावल , चांदी, कोपर , जुट, जंगल , फिश जैसे इत्यादि कुदरती संपति से भरपूर हे. एशिया कृषि अनाज, के उत्पादन का मुक्य केंद्र हे .

पर्यटक:-

एशिया धार्मिक ओर ऐतिहासिक संस्कृति का महाद्वीप  हे . एशिया के कई राष्ट्र में ऐतिहासिक स्मारक, पौराणिक किल्ले , पौराणिक गुफाए , हे जो प्राचीन सभ्यता का परिचय करवाता हे, एशिया में ताजमहल , चाइना वोल , जैसे कई अजूबे हे . ओर तरह तरह के बड़े बड़े मॉल, बड़ी इमारते भी एशिया में ही हे . कहा जाता हे की विश्व की सबसे बडी १० इमारतों में से ९ एशिया में ही हे .

अन्य : –

एशिया में विश्व का सबसे ऊँचा पर्वत – हिमालय, सबसे ऊँचा शिखर – माउन्ट एवेरेस्ट, सबसे ऊँचा पठार – तिब्बत का पठार, सबसे बड़ी जिल कास्प्रियाँन सागर आये हुए हे. विश्व में सबसे प्रथम सूर्यादय भी एशिया के जापान में होता हे. एशिया अनेक लम्बी नदी, नहर, पहाड़ जैसे  प्रकृतिक सौन्दर्य , प्राचीन संस्कृति ओर औधोगिक साधन-संपति से भरपूर हे.

2 thoughts on “About Asia In Hindi

Add yours

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: