About Antarctica In Hindi

अंटार्क्टिका नाम सुनते ही हमारे दिमाग में पेग्विन ही आ जाते हे . जो पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा अंटार्क्टिका में ही पाए जाते हे. मुंबई में भी तारापोरवाला एक्वेरियम में पेंग्विन रखे गए हे जिसको देखने शरुआत में काफी लोगो की भीड़ जमा हुई थी .

विश्व का सबसे ठंडा महाद्वीप :- 

Arctic, Sea, Ocean, Water, Antarctica, Winter, SnowFryxellsee, Antarctica, Blue Ice, LakeIce, Antarctica, Cold, Nature, Blue

अंटार्क्टिका दक्षिण ध्रुव में आया हुआ विश्व का पांचवा सबसे बड़ा महाद्वीप हे. अंटार्क्टिका की चारो ओर दक्षिण महासागर हे. अंटार्क्टिका का  96 % भाग बरफ से आच्छादित हे. अटार्क्टिका पृथ्वी का सबसे ठंडा, शुष्क ओर तेज हवा वाला महाद्वीप हे. अंटार्क्टिका में बहुत ही कम बारिश होती हे , इसी वजह से इसे रेगिस्तान भी कहा जाता हे.

मानवजाती के लिए रहना कठिन :- 

Antarctica, Adventure, Ronald Amundsen, ExpeditionAntarctica, Men, Working, Winter, SnowAntarctica, Winter, Snow, Ice, Sky

 

अंटार्क्टिका के बरफ के औसतन की वजह से यहाँ मानव स्थायी नहीं हो सकता, यहाँ कोई भी मानव जाती नहीं रहती हे. यहा केवल पेंग्विन, सिल, निमेटोड, टाडीग्रेड , पिस्सू , शेवाल, शितानुकुलित पौधे जैसे जिव ही जीवित रह सकते हे .वनस्पति में टुंड्रा वनस्पति यहाँ पाई जाती हे. यहाँ कोई स्थायी जन जीवन नहीं हे किंतु 4000 से अधिक वैज्ञानिको यहाँ विभिन्न प्रकार के प्रयोग कर रहे हे. कई देशो की वैज्ञानिक संस्थाए भी यहाँ आई हुई हे.

वैज्ञानिक शोध : –

Argentinian Station, AntarcticaDrake Passage, Antarctica, Waves, OceanAntarctica, Camp, Buildings, Winter

नोर्वे के रोआल्ड एमुन्डसन पहले इन्सान थे जिन्होंने इ.स 1911 में अंटार्क्टिका की धरती पर कदम रखा. अंटार्क्टिका की घरती के लिए राष्ट्रों के बिच तकरार ना हो इसीलिए एक संधि बनाई गई हे जिसमे 46 राष्ट्र शामिल हे . अंटार्क्टिका में पृथ्वी की चुम्बकीय विशेषता, ओजोन वायु स्तर, सागरीय विज्ञान , भूगर्भ विज्ञान जैसे अनेक प्रयोग वैज्ञानिको द्वारा किये जाते हे.

अन्य :- 

Animal, Animals, Antarctica, Beaks, BirdPlane, Antarctica, Mcmurdo StationPlane, Penguins, Boarding, AntarcticaAntarctica, Southern Ocean, King Penguin

 

  • कहा जाता हे की अंटार्क्टिका में 70 % दुनिया का स्वच्छ पानी ओर 90 % स्वच्छ पानी का बरफ हे.
  • ओर यही बरफ दुनिया में हो रहे प्रदुषण की वजह से पिगल रहा हे ओर अगर ज्यादा प्रदुषण बढ़ने से यह बरफ पिगलने की क्षमता बढ़ने से इसका परिणाम विश्व भर की मानवजाति को हानी पंहुचा सकता हे .
  • अंटार्क्टिका में सबसे ज्यादा निमेटोड कीड़ा पाया जाता हे जिसकी संख्या पेंग्विन से भी अधिक हे .
  • अंटार्क्टिका का पब्लिक डोमेन भी हे जो .aq से कहा जाता हे .
  • अंटार्क्टिका में एक पब्लिक ATM Machine भी हे .
  • आज तक के पाए गए 90% प्रतिशत उल्कापिंड अंटार्क्टिका में हे .
  • आज तक का सबसे पुराना स्पर्म अंटार्क्टिका में ही मिला हे जो एक कीड़े का स्पर्म हे ओर तक़रीबन 50 Million साल पुराना हे.
  • अंटार्क्टिका में  एक Nuclear Power Station ओर एक Fire Station भी हे.
  • अंटार्क्टिका के बरफ ओसतन की मोटाई लगभग १.६ किमी हे ओर कहाजाता हे की अंटार्क्टिका में इसी बरफ की ओसतन के पीछे लगभग 400 छिपी हुई झील भी हे ओर उनमेसे Vostak Lake सबसे बड़ा हे.
  • अंटार्क्टिका का अपना कोई Timezone नहीं हे . हालाँकि अंटार्क्टिका में पृथ्वी के सरे Timezone मिलते हे.
  • अंटार्क्टिका का १ % भाग ऐसा भी हे जहाँ पिछले 20 लाख साल में ना बारिश हुई हे ओर ना कोई बरफ हे.
  • अंटार्क्टिका में हवाए बहोत तेजी से चलती हे ओर कुछ जगह तो ३२० Km/ H की रफ़्तार से चलती हे.
  • कहाजाता हे की तक़रीबन ५३ लाख साल पहले अंटार्क्टिका एक गर्म स्थान था ओर इतना गर्म था की वहां खजूर के पेड़ आसानी से उग जाते थे .
  • अंटार्क्टिका में कभी ३-४ दिन तेज हवा चलती हे तो कभी हवामान शुष्क रहता हे वहां मौसम का कोई निश्चित हवामान नहीं रहता .
  • इ.स 1979 में Emile Marco Palma पहली अर्जेंटिन इन्सान थी जिनका जन्म अंटार्क्टिका में हुआ . यह भी कहाजाता हे की ये अर्जेंटीना द्वारा खुद को अंटार्क्टिका का हिस्सा बनाने का एक प्रयास कीया गया था. अर्जेंटीना ने एक गर्भवती महिला को अंटार्क्टिका भेजा था .

3 thoughts on “About Antarctica In Hindi

Add yours

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: