Impact of Types of Utensils on Health ( विभिन्न प्रकार के बर्तन का स्वास्थ्य पर प्रभाव )

हमने अकसर कहीं ना कहीं तो सुना ही होता हे की पुराने ज़माने में राजा-महाराजा सोने ओर चांदी की थाली में खाना खाते थे ओर तभी सोने ओर चांदी के दाम आसमान पे भी नहीं थे. पर हाँ वह लोग सोने ओर चांदी के बर्तन में खाना खाते थे उसके पीछे भी कई स्वास्थ्य कारण भी होते थे. आज के ज़माने में हम सोने ओर चांदी की थाली में खाना खाने को सोच भी नहीं सकते. क्यूंकि इतनी महगाई में यह संभव नहीं हे.पर हाँ कुछ धातु या अन्य केमिकलो से बने बर्तन या थाली जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हे वह हम नजर अंदाज जरुर कर सकते हे . हम क्या खाना खाते हे उसके साथ साथ हम जो थाली में खाना खाते हे वह भी महत्व पूर्ण हे.

( Important – निम्न लिखित बर्तनों के उपयोग से शरीर स्वस्थ रहता हे, किंतु वह बर्तन शुद्ध धातु से बना ओर बिना किसी केमिकल मिलावट के होने चाहिए अन्यथा इससे शरीर को नुकसान भी हो सकता हे .)

आइये तो कुछ प्रकार के बर्तन के बारे में जानते हे .

सोने के बर्तन ( Gold Utensils  ) :-

download (2)

सोना गर्म होता हे . इससे शरीर को एक उर्जा मिलती हे ओर शरीर को स्वस्थ, तंदुरस्त ओर ताकतवर रखने के लिए अति लाभदायी हे. साथ ही शारीरिक ओर मानसिक रूप से शांति मिलती हे. हमारे प्राचीन समय से स्त्री ओर पुरुष दोनों सोने के आभूषण पहनते आए हे ओर आज भी लोग पहन्ते हे . यह सोने के आभूषण पहनने से भी शरीर स्वस्थ रहता हे .

चांदी के बर्तन ( Silver Utensils ) :-

images (8).jpg

इससे पेट, आंतो , यकृत , अपचन जैसी बीमारिया दूर होती हे. चांदी एक एंटीबेक्टेरियल धातु हे जो रोगजन्य जंतुओ को दूर रखती हे . चांदी आँखों को स्वस्थ रखने के लिए भी उपयोगी हे . यह शरीर की रोगप्रतिकारक शक्ति बढ़ाता हे. यह आसपास के छोटे जीवजन्तु ओ को दूर रखता हे इसीलिए खासतौर पर छोटे बच्चो को चांदी के बर्तन में खिलाया जाता हे. चांदी के बर्तनों में भरा हुआ पानी ताजा रहता हे .चांदी एक शीतल धातु हे ओर शरीर के तापमान को ठंडा रखती हे .ओर साथ ही शरीर के वात, पित ओर कफ़ को नियंत्रित रखता हे . चांदी के बर्तन में खट्टे पदार्थ नहीं खाने चाहिए.

कांसा के बर्तन ( Bronze Utensils ):-

images (7).jpg

कांसे के बर्तन स्वास्थ्य के लिए लाभदायी हे.इनमे खाना खाने से रक्त शुद्ध होता हे ओर दिमाग तेज होता हे.याद्दाश बढाती हे. किंतु खट्टे पदार्थ जैसे की दहीं वगैरा कांसे के बर्तन में नहीं खाने चाहिए क्यूंकि इससे शरीर को नुकसान होता हे .

तांबे के बर्तन ( Copper Utensils ) :-

copper-boiler-5115_960_720

तांबे के बर्तन में रात को रखा हुआ पानी सुबह पिने से यह शरीर के लिए अमृत समान ही काम करता हे. इससे शरीर के कई रोग दूर रहते हे. साथ ही कब्ज की तकलीफ भी दूर होती हे. आज भी पूजा पाठ में तांबे के लौटे का अचूक उपयोग किया जाता हे. तांबे के बर्तन में दूध,दही ओर खट्टे पदार्थ नहीं खाने चाहिए.

पीतल के बर्तन (Brass Utensils ) :-

Tombac_ewer

पीतल एक गर्म धातु हे , पीतल के बर्तन से कृमि रोग, वायु दोष . कफ़ जैसी बीमारिया दूर होती हे. अगर आप पीतल के बर्तन का प्रयोग कर रहे हो तो आपको समयसर कलाई करवा लेनी चाहिए अन्यथा नुकसान होने की भी संभावना होती हे.ओर इन बर्तनों में भी खट्टे पदार्थ का सेवन नहीं करना चाहिए.

स्टील के बर्तन ( Steel Utensils )  :-

images (6).jpg

आज के वर्तमान समय में हम ज्यादातर स्टील के ही बर्तन का ही उपयोग करते हे. स्टील के बर्तन में हम सभी प्रकार के खाध्यपदार्थ रख सकते हे. इन बर्तनों में खाना खाने के ओर बनाने के ना कोई फायदे हे ओर नाहीं कोई नुकसान हे .

लोहे के बर्तन ( Iron Utensils )  :-

CastIronPan.jpg

यह शरीर में लोह्तत्व ओर शक्ति को बढ़ाता हे. साथ ही सुजन, पांडू रोग ओर पीलिया -कमलां जैसे रोगों को नष्ट करता हे. आज कई घरो में लोहे की कढ़ाई देखी जाती हे. यह स्वास्थ्य वर्धक हे  किंतु लोहे की थाली में खाना नहीं खाना चाहिए इससे बुद्धि नष्ट होती हे .साथ ही खट्टी चीजे लोहे के बर्तन में नहीं रखनी चाहिए यह नुकसान करक हे.

एलुमिनियम के बर्तन ( Aluminium Utensils )  :-

download (11).jpg

एलुमिनियम के बर्तन सिर्फ नुकसानकरक ही होते हे. यह बोक्सईट से बना होता हे. यह शरीर के आर्यन ओर केल्सियम को अधिक नुकसान पहुचाता हे. इससे हड्डिया भी कमजोर होती हे. इससे किड़नी, लीवर, अस्थमा ,दम, टीबी, शुगर जैसे गंभीर रोगों की संभावना बढ़ जाती हे. पुराने ज़माने में अंग्रेजो इसीलिए जेल के केदी ओ को एलुमिनियम के बर्तन में ही खाना परोसते थे .

शीशे के बर्तन ( Glass Utensils ) :-

download (10)

शीशे के बर्तन में गर्म भोजन पिरोसने से संभव हे की शीशे के कुछ अंश भोजन में मिल जाये इसीलिए यह भी नुकसानकारक हे.

मिट्टी के बर्तन ( Soil Utensils ) :-

download (12).jpg

मिट्टी के बर्तन में पका हुआ भोजन स्वादिष्ट ओर पौष्टिक होता हे. मिट्टी के बर्तन में भोजन पकनेके लिए बहुत समय लगता हे किंतु इससे भोजन के संपूर्ण पोषकतत्व मिलते हे. आज की तारीख में विज्ञान भी मान रहा हे की मिट्टी के बर्तन में खाना खाने से ओर पकाने से शरीर स्वस्थ रहता हे ओर शरीर के कई रोग दूर होते हे . यह बर्तन मिट्टी के होने के कारण केमिकल रहित होते हे ओर नुकसान नहीं करते हे .दूध ओर दूध से बने पदार्थो के लिए मिट्टी के बर्तन अति लाभदायी हे .

 

13 thoughts on “Impact of Types of Utensils on Health ( विभिन्न प्रकार के बर्तन का स्वास्थ्य पर प्रभाव )

Add yours

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: