Hindu Festival Diwali & Health ( दिवाली त्यौहार की स्वास्थ्य पर असर ) ( दिया ओर स्वास्थ्य )

आप सभी सोच ही रहे होंगे की दिवाली ओर स्वास्थ्य को क्या लेना देना हे. किंतु आज जैसे फटाके फोड़कर दिवाली मनाई जाती हे में उनकी बात नहीं कर रही हु. हिन्दू धर्म के अनुसार दिवाली में घर के बहार दीप, रंगोली, तोरण  लगाये जाते हे. आइये तो दिवाली ओर स्वास्थ्य का क्या लेना देना हे जानते हे.

दिवाली के त्यौहार की स्वास्थ्य पर कुछ अच्छी असर भी होती हे.

१) दीप ( दिया ) की स्वास्थ्य पर असर  :-

downloaddia-1035834__340lights-1053323__340

दीप को हम दिया, दिवा, दीपक  ऐसे विभिन्न नाम से जानते हे. हिंदू धर्म के अनुसार तो हिन्दू धर्म के लोग ना केवल दिवाली पर किंतु रोज अपने भगवान के पास दिया रखकर भगवान की पूजा करते हे. हिन्दू धर्मं के कई भगवानो की आरती करते समय ओर अच्छे कार्य में भी दिये का उपयोग किया जाता हे. आइये तो इनके बारे में जानते हे .

  • अगर कोई मुझे पूछे की सबसे अच्छी रोशनी कोनसी हे ..? White Tube-light या Yellow Bulb … ? तो में कहूँगी सूरज ओर चंद्रमा की रोशनी के बाद अगर कोई सबसे अच्छी स्वास्थ्य वर्धक रोशनी हे तो वो हे दिया.
  • दिया का इतिहास 5000 सालों से भी अधिक पुराना हे. हड़प्पा, मोहेंजोदड़ो ओर सिंधू घाटी के अवशेष में भी मिट्टी के दिये पाए गए हे. वे काल में प्रकाश के लिए दिये का उपयोग किया जाता था.
  • मिट्टी के दियें में कापूस की बाती ओर घी डालकर प्रज्वल किये गए दिये के सामने अगर पढ़ा-लिखा भी जाए तो भी आँखों की रोशनी को नुकसान नहीं होता.
  • घर में दिया जलाने से हवा शुद्ध होती हे ओर वातावरण अच्छा ओर प्रदुषण रहित होता हे.
  • दिया जलाने से कई रोग दूर होते हे, खास तौर पर चर्मरोग के दर्दीओ के लिए अधिक लाभदायी हे.
  • मिट्टी का दिया अगर घी डालकर प्रज्वलित किया जाये तो सबसे अधिक लाभ होता हे ओर यह बंध हो जाये तो भी इसकी असर हवा में ४ घंटे तक रहती हे.
  • हिन्दू धर्म के अनुसार दीपावली के दौरान दिये को धन, दौलत, स्वास्थ्य, खुशियां, का प्रतिक माना गया हे.
  • ओर वैज्ञानिक कारण के अनुसार दीपावली बारिश के बाद ओर सामान्य सेप्टेम्बर – अक्टूबर महीने के दौरान आती हे. इसी दौरान हवा में कई बेक्टेरिया ओर जीवजन्तु अधिक होते हे, इसीलिए दिवाली आने से पहले घर में साफसफाई की जाती हे. दिया ओर दीपमाला जलाने से वातावरण के यह जीवजन्तु नष्ट होते हे ओर अगर स्वास्थ्य अच्छा हो तो सब लोग खुश रहते हे .

रंगोली ( Rangoli ) :-

imagesIMG_38273265141117IMG-20141024-WA0000

घर के बहार की हुई रंगोली को देखकर मन शांत ओर ठंडा रहता हे. किसी भी प्रकार का गुस्से वाले आदमी क्यों ना हो रंगोली ओर दिये को साथ में देखकर गुस्सा भी शांत हो ही जाता हे. रंगोली सच में  एक मानसिक सुख प्रदान करती हे .

आम ओर अशोक के पेड़ के पत्तो का तोरण:-

images (1)Toranamu (1)

दिवाली हो या कोई ओर त्यौहार धर के दरवाजे पे आम ओर अशोक के पत्तो का तोरण लगाया जाता हे. इससे घर में नकारात्मक उर्जा प्रवेश नहीं कर पाती. साथ ही इससे  कई अन्य औषधिया भी बनायीं जाती हे ओर इसके पत्तो का तोरण लगाने से भी कई बीमारिया भी प्रवेश नहीं कर पाती.

बच्चों का शिवाजी महाराज का किल्ला बनाना :-

15036705_1825506617663346_6356925609946012409_n14980656_1825504330996908_3710736831500343024_n14962564_1825506427663365_7561894297405559848_n

आज कल के बच्चे वीडियो-गेम ओर मोबाइल में ही पड़े रहते हे. किंतु आज भी महाराष्ट्र ओर कुछ राज्य में कुछ बच्चे मिलकर अपने इलाक़े में  दिवाली के दौरान मिट्टी का किल्ला बनाते हे.

  • मोबाइल गेम ओर विडियो गेम खेलने से तो यह अच्छा ही हे .
  • हाल ही में मेने एक प्रख्यात न्यूज़ पेपर के आर्टिकल में पढ़ा था की यदि बच्चे मिट्टी में खेले तो उनकी रोग प्रतिकारक शक्ति ओर बढती हे.
  • बच्चे मिलजुल कर यह काम करते हे इससे एक टीमवर्क होता हे ओर साथ ही उनका प्रयोगात्मक ओर क्रियात्मक ज्ञान बढ़ता हे ओर उन्हें एक अच्छा अनुभव भी होता हे.

* Wishing You All Happy Diwali *

 

 

 

23 thoughts on “Hindu Festival Diwali & Health ( दिवाली त्यौहार की स्वास्थ्य पर असर ) ( दिया ओर स्वास्थ्य )

Add yours

  1. आप बहुत ही ज्ञान पूर्वक ब्लाग्स प्रदान कर रहे हैं। शुक्रिया और ढेर सारे बधाइयाँ।
    आपको मेरी तरफ से हार्दिक दीपावली शुभकामनाएँ।💐🌋

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: